Don't Miss
Home / Uttarakhand / लम्बे इंतज़ार के बाद अब कुमाऊं और गढ़वाल को जोड़ेगी उत्तराखंड रोडवेज की बसें

लम्बे इंतज़ार के बाद अब कुमाऊं और गढ़वाल को जोड़ेगी उत्तराखंड रोडवेज की बसें

uttarakhand transport buses

हल्द्वानी: करीब एक साल के लंबे इंतजार के बाद मंगलवार से नैनीताल टू गोपेश्वर (चमोली गढ़वाल) बस सेवा फिर शुरू होगी। नैनीताल से सुबह साढ़े छह बजे बस गोपेश्वर के लिए रवाना होगी। कुमाऊं और गढ़वाल को जोड़ने वाली इस सेवा से यात्रियों को काफी फायदा मिलेगा। बस और स्टाफ की कमी के कारण पूर्व में नैनीताल से चलने वाली इस बस को रोडवेज ने बंद कर दिया था। भवाली, गरमपानी, रानीखेत, द्वाराहाट, चौखुटिया, गैरसैंण, कर्णप्रयाग और चमोली होते हुए बस गोपेश्वर पहुंचती थी। मंगलवार सुबह पहली बस रवाना होने के बाद नियमित तौर पर बस चलेगी। सुबह 6:30 पर चलने के बाद यह बस शाम 6.30 पर गोपेश्वर पहुंच जाएगी। उसके बाद अगले दिन सुबह ही वापसी करेगी। रोडवेज अधिकारियों के मुताबिक दो बसों को इस सेवा में लगाया जाएगा। दिल्ली के बराबर सफर

नैनीताल से गोपेश्वर की एक तरफ की दूरी करीब 280 किमी है। जो दिल्ली के बराबर है। इस वजह से बस पहुंचने के बाद चालक-परिचालक को रात्रि विश्राम का मौका दिया जाएगा। उम्मीद के मुताबिक मुसाफिर नहीं | रोडवेज कर्मचारियों की मानें तो लंबे रूट की बस सेवा होने के कारण मुसाफिर कम मिलते हैं। खासकर द्वाराहाट के बाद ज्यादा दिक्कत है। सूत्रों की मानें तो 30-40 प्रतिशत लोड फैक्टर होने की वजह से ही उस समय बस भेजना बंद कर दिया गया था। ऐसे रूटों पर चलने से रोडवेज को काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है। फिलहाल उम्मीद जताई जा रही है कि नियमित संचालन पुन: शुरू होने से सवारियां मिलेंगी, जिससे लोगों को सुविधा तो होगी ही रोडवेज की आय भी बढ़ेगी।

About Naitik Awaj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll To Top